Mutual Fund Kya Hai | Mutual Fund में निवेश कैसे करें

Mutual Fund Kya Hai: आप भी जानकारों से ऐसा सुनते होंगे कि म्यूचुअल फंड निवेश के लिए एक अच्छा विकल्प है, जहां रिटर्न भी अच्छा है।

वहीं, शेयर बाजार की तुलना में जोखिम कम होता है लेकिन यह जरूरी नहीं है कि सभी को म्यूचुअल फंड मार्केट को समझना चाहिए।

इसलिए निवेश करने से पहले म्यूचुअल फंड को जानना बहुत जरूरी है। इससे आपको निवेश निर्णय लेने में मदद मिलेगी।

आइए जानते हैं कि Mutual Fund kya hai इसका कितना कटेगिरी है, कितना रिटर्न कमाया जा सकता है। साथ ही यह भी जानिए कि म्यूचुअल फंड में कैसे निवेश कर सकते हैं।

Mutual Fund Kya Hai

म्यूचुअल फंड हमारे और आप जैसे लोगों से बहुत पैसा इकट्ठा करता है। इस पैसे के प्रबंधन की जिम्मेदारी एक फंड मैनेजर को दी गई है।

यह फंड मैनेजर निवेश के मामलों का विशेषज्ञ है। यह प्रबंधक शेयर या बॉन्ड में पैसा लगाकर अधिक से अधिक लाभ कमाने की कोशिश करता है।

वह कम जोखिम उठाकर अधिक कमाने की कोशिश करता है। इस तरह से एक छोटा निवेशक म्यूचुअल फंड के माध्यम से किसी विशेषज्ञ की सेवाओं का लाभ उठाने में सक्षम है Mutual Fund kya hai .

म्यूचुअल फंड का इतिहास (Mutual Fund kya hai)

भारत का पहला म्यूचुअल फंड 1963 में यूनिट ट्रस्ट ऑफ इंडिया के रूप में आया था। उदारीकरण के दौर में, सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और संस्थानों को म्यूचुअल फंड लाने की अनुमति दी।

1992 में, SEBI ने बाजार में निवेशकों के धन की सुरक्षा और सुरक्षा बाजार को नियंत्रित करने के लिए एक विधेयक पारित किया।

जहां तक ​​म्यूचुअल फंड्स की बात है, तो सेबी ने 1993 में म्यूचुअल फंड्स के बारे में नियमन अधिसूचित किया।

तब से, निजी क्षेत्र की कंपनियों को म्यूचुअल फंड में प्रवेश करने की अनुमति दी गई थी। समय-समय पर सेबी निवेशकों के पैसे की सुरक्षा के लिए नियम बनाता है और कई दिशानिर्देश जारी करता है Mutual Fund kya hai. 

म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में कैसे करें निवेश?

आप म्यूचुअल फंड की वेबसाइट से सीधे निवेश कर सकते हैं। यदि आप चाहें, तो आप म्यूचुअल फंड सलाहकार की सेवा का उपयोग भी कर सकते हैं।

यदि आप सीधे निवेश करते हैं, तो आप म्यूचुअल फंड योजना की डाइरेक्ट योजना में निवेश कर सकते हैं। यदि आप एक सलाहकार की मदद से निवेश कर रहे हैं, तो आप एक म्यूचुअल फंड योजना की नियमित योजना में निवेश करते हैं।

अगर आप सीधे निवेश करना चाहते हैं, तो आपको उस म्यूचुअल फंड की वेबसाइट पर जाना होगा। आप अपने दस्तावेजों के साथ उनके कार्यालय भी जा सकते हैं।

म्यूचुअल फंड की डाइरेक्ट योजना में निवेश करने का फायदा यह है कि आपको कमीशन नहीं देना पड़ता है। इसलिए, लंबी अवधि के निवेश में आपके रिटर्न में बहुत वृद्धि होती है। इस तरह से म्यूचुअल फंड में निवेश करने में एक समस्या यह है कि आपको खुद ही रिसर्च करना होगा।

इन्हें भी पढ़ें : Google AdSense क्या है और कैसे काम करता है?

Mutual fund के प्रकार

Equity Funds

यदि आप Risk को देखते हैं, तो Equity Funds को High Risk फंड माना जाता है। फंड को Equity शेयरों में निवेश किया जाता है।

उनका रिटर्न शेयर बाजार से जुड़ा हुआ है। हां, यहां Risk के साथ-साथ लाभ कमाने की भी अधिक संभावना है। यह तेजी से बढ़ता हुआ फंड है। कई प्रकार के Equity Funds भी हैं। Equity Funds में निवेश का मतलब है कंपनी की हिस्सेदारी खरीदना।

Debt Funds

जब आप Debt Funds में निवेश करते हैं, तो इसका मतलब है कि आप उस संस्थान को लोन देते हैं जिसने यह फंड जारी किया था। इसमें रिस्क Factor कम होता है, लेकिन यहां आपको उसी हिसाब से लाभ मिलेगा।

यहां, सरकार और कंपनियों की Real estate में निवेश किया जाता है। इसे एक सुरक्षित निवेश माना जाता है। यहां सरकारी और निजी कंपनियों द्वारा बिल जारी किए जाते हैं।

Balanced Funds

जैसा कि नाम से पता चलता है, Equity Funds और Debt Funds में संतुलित तरीके से निवेश किया जाता है। इस तरह के निवेश में Risk और Profit भी Balanced होते हैं। ये फंड निवेशकों के लिए फायदेमंद हैं क्योंकि यहां पूंजी की सुरक्षा तय है।

Equity Funds और Debt Funds यहां एक निश्चित अनुपात में निवेश किए जाते हैं। इसका मुख्य उद्देश्य निवेश को संतुलित रखना है और लाभ भी यहाँ पाया जाता है।

अगर आप अच्छा रिटर्न चाहते हैं तो इस फंड में लंबी अवधि का निवेश अच्छा रहेगा। जो लोग कम Risk लेना चाहते हैं, उनके लिए Balanced Funds में निवेश करना अच्छा है।

Money Market Fund 

यहां Investment short term scheme योजना के तहत किया जाता है। यह एक सुरक्षित निवेश है। यहां सरकारी bonds, treasury bills आदि पर निवेश किया जाता है। यहां निवेश कुछ ही समय में mutual हो जाता है।

अन्य mutual funds की तुलना में यहां रिटर्न थोड़ा कम है। यह निवेश वास्तव में अल्पकालिक निश्चित आय है। किसी भी इमरजेंसी की स्थिति में आप यहां से पैसा निकाल सकते हैं। यह उन लोगों के लिए है जो निवेश से तत्काल लाभ चाहते हैं।

Index Funds

यह माना जाता है कि Index Funds में long term निवेश बहुत लाभदायक हो सकता है। इसमें क्या होता है कि एक निश्चित index में आने वाले शेयरों में समानुपातिक रूप से निवेश किया जाता है। mutual Funds कंपनी में कई तरह के इंडेक्स होते हैं।

आपको यह समझना चाहिए कि कई कंपनियां शेयर बाजार के सूचकांक में शामिल हैं और आप उन कंपनियों के शेयर में निवेश करते हैं। विशेषज्ञों का मानना ​​है कि index Funds में लाभ आपका average होगा।

Gilt Funds

यहां निवेशकों का पैसा सरकारी योजनाओं में लगाया जाता है, इसलिए इसे सबसे सुरक्षित फंड माना जाता है। केंद्र सरकार यहां सुरक्षा की गारंटी देती है जिसके कारण आपका पैसा सुरक्षित है।

ये फंड केंद्र और राज्य सरकार की प्रतिभूतियों में निवेश करते हैं और दीर्घकालिक निवेशकों के लिए सबसे उपयुक्त हैं जो जोखिम मुक्त हैं।

Liquid funds

इसे short term इन्वेस्टमेंट के दौरान एक अच्छा रिटर्न फंड माना जाता है। जब आपके पास कहीं से पैसा इकट्ठा होता है, तो आप इस फंड में निवेश कर सकते हैं। इसमें बहुत कम Risk शामिल है।

यहां आप कुछ महीनों के लिए निवेश करने से लाभान्वित हो सकते हैं। यहां बहुत कम उतार-चढ़ाव देखे जाते हैं।

निवेश के फायदे (Mutual Fund kya hai)

Mutual Fund का लाभ यह है कि यहां आपके निवेश को फंड मैनेजर द्वारा प्रबंधित किया जाता है, जिन्हें बाजार की अच्छी समझ है। ऐसी स्थिति में, वह आपके पैसे को सोच समझकर निवेश करता है, जहां रिटर्न बेहतर रहने की उम्मीद है।

उसी समय, आपके पोर्टफोलियो को Mutual Fund के माध्यम से विविधता मिलती है। क्योंकि यहां, केवल एक शेयर के बदले, पैसा अलग-अलग शेयरों या एसेट क्लास में लगाया जाता है। यदि एक में Risk है, तो यह दूसरे में कवर किया गया है।

आपका पैसा Debt funds में भी लगाया जाता है, इसलिए बाजार में उतार-चढ़ाव होने पर भी पैसा सुरक्षित रहता है। आप ELSS श्रेणी में निवेश करके भी कर बचा सकते हैं।

इन्हे भी पढ़े : शेयर मार्केट क्या है और कैसे काम करता हैं?

नोट: Mutual Fund kya hai आपको कैसा लगा, मुझे कमेंट करके जरूर बताएं और हमारे द्वारा लिखे गए लेख में कोई कमी देखी है तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं, हम इसे सुधारेंगे और अपडेट करेंगे। अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया तो इसे फेसबुक, व्हाट्सएप और अपने दोस्तों के बीच शेयर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *