Bitcoin क्या है ये कैसे काम करता है? बिटकॉइन की पूरी जानकारी

Bitcoin kya hai: बिटकॉइन एक विकेंद्रीकृत Cryptocurrency है जो लोगों या व्यवसायों के बीच तत्काल भुगतान के लिए Peer to Peer तकनीक का उपयोग करता है।

इसे मुद्रा के रूप में खरीदा और इस्तेमाल किया जा सकता है और यह एक प्रकार का निवेश भी है। Bitcoin 2009 के आसपास बना है।

इसने दिसम्बर 2017 में कीमत में अपना सर्वकालिक उच्च स्तर मारा, जब 1 Bitcoin की कीमत 13,‎22823.601 भारतीय रुपये के आस पास था।

जबकि फरवरी 2021 में सबसे अधिक कीमत है 1 Bitcoin की कीमत लगभग 35,91,690.92 भारतीय रुपये है Bitcoin kya hai.

Bitcoin kya hai ? What Is Bitcoin?

Bitcoin Digital Currency का एक रूप है। यह कंप्यूटर पर इलेक्ट्रॉनिक रूप से बनाया और धारण किया जाता है।

Bitcoin केंद्रीय बैंकों या मौद्रिक अधिकारियों द्वारा डॉलर, यूरो या रुपये जैसे कोई कागजी पैसे नहीं हैं Bitcoin एक Cryptocurrency का पहला उदाहरण है।

जो दुनिया भर में उन्नत कंप्यूटर सॉफ्टवेयर का उपयोग करके लोगों और व्यवसायों द्वारा उत्पादित किया जाता है। जो गणितीय समस्याओं को हल करता है Bitcoin kya hai. 

Bitcoin कब बनाया गया था? Bitcoin kya hai. 

Satoshi Nakamoto ने पहली बार 2009 में White Paper में Bitcoin को गणित आधारित भुगतान उपकरण के रूप में प्रस्तावित किया था।

Bitcoin के पीछे का विचार एक Currency System बनाने का था जिसमें बैंकों को शामिल नहीं किया गया था, और इसके बजाय Blockchain के रूप में जानने वाला एक Decentlized Ledger का उपयोग करके काम करेगा।

इन्हें भी पढ़े : Network Marketing Kya Hai?। नेटवर्क मार्केटिंग कैसे करें?

Bitcoin कैसे काम करता है?

Bitcoin भुगतान का एक तरीका है या मूल्य का हस्तांतरण जो Central banks की तरह सरकारी प्राधिकरणों से स्वतंत्र है जो परंपरागत रूप से मुद्रा आपूर्ति और Global market में मुद्रा की उपलब्धता को नियंत्रित करते हैं।

कई मायनों में, बिटकॉइन एक्सचेंज का एक पैन-ग्लोबल साधन है। कम लेनदेन शुल्क के साथ तुरंत computer के माध्यम से स्थानांतरण किए जाते हैं।

Note : बिटकॉइन पारंपरिक बैंकिंग प्रणाली (Bitcoin Traditional banking system) के माध्यम से प्रवाह नहीं करता है।

बल्कि यह एक Computer wallet से दूसरे में प्रवाहित होता है। Bitcoin को Currency की तरह Pocket या Wallet में नहीं रखा जा सकता है।

यह विशुद्ध रूप से एक्सचेंज का एक कंप्यूटर-आधारित साधन है। Bitcoin एक निश्चित संपत्ति है – केवल आपूर्ति की सीमा 21,000,000 coins हैं।

बिटकॉइन के Advanced in mining गणितीय समस्याओं का समाधान। हालांकि, Bitcoin विभाज्य है, इसलिए Exchange माध्यम के लिए विकास की क्षमता असीमित है।

Bitcoin के साथ आए सबसे दिलचस्प आविष्कारों में से एक Blockchain या वितरित प्रौद्योगिकी (Distributed ledger technology) है।

Distributed ledger technology (DLT) की अद्भुत क्षमता है, जब यह पारंपरिक परिचालन और वित्तीय और साथ ही अन्य उद्योगों में व्यवसायों के लिए निपटान का काम करता है।

Distributed ledger technology (DLT) Ownership को ट्रैक करता है और बिटकॉइन के तत्काल और कुशल हस्तांतरण के लिए अनुमति देता है।

क्या Bitcoin एक मुद्रा है? Bitcoin kya hai.  

बिटकॉइन में कई विशेषताएं हैं जो इसे पारंपरिक मुद्राओं से अलग Global exchange साधन के रूप में स्थापित करती हैं।

केंद्रीय बैंक या मौद्रिक प्राधिकरण Bitcoin की संख्या को नियंत्रित नहीं करते हैं इसे Global बनाने में Decentralized है।

Bitcoin को सेकंड में प्राप्त करने या स्थानांतरित करने के लिए कंप्यूटर वाला कोई भी व्यक्ति Bitcoin एड्रेस सेट कर सकता है।

Bitcoin गुमनाम है और Cryptocurrency उपयोगकर्ताओं को कई Address बनाए रखने की अनुमति देती है और एक Address की स्थापना के लिए किसी भी व्यक्तिगत जानकारी की आवश्यकता नहीं होती है।

Distributed ledger technology  Bitcoin को पूरी तरह से पारदर्शी बनाती है यह कभी भी होने वाले हर लेन-देन के Address से पूरा विवरण संग्रहीत करती है।

बिटकॉइन के हस्तांतरण तत्काल और एक बार किए जाने के बाद, वे अंतिम हैं। इसी समय, सीमित शुल्क हैं और International और Domestic transfer Foreign Currency Exchange दरों और Transfer के लिए शुल्क के अधीन नहीं हैं।

Bitcoin की बात करें तो इसमें कुछ सीमाएँ हैं। United States of America में कमोडिटी फ्यूचर्स ट्रेडिंग कमीशन (CFTC) ने आधिकारिक तौर पर Bitcoin को एक वस्तु के रूप में नामित किया है।

Bitcoin का भविष्य क्या है? 

टेक्नोलॉजी ने हाल के वर्षों में दुनिया को एक छोटा स्थान दिया है। Bitcoin तकनीकी क्रांति का एक बच्चा है।

पहली पैन-ग्लोबल करेंसी (Pan-global currency) जिसका उपयोग दुनिया भर में लोगों द्वारा Exchange के माध्यम के रूप में सरकारों को शामिल किए बिना किया जा सकता है।

क्रिप्टोकरेंसी ब्याज और प्रतिरोध को आकर्षित करती रहेगी। उन Countries में जहां मुद्रा प्रवाह कड़े सरकारी नियंत्रण (Government Regulation) के अधीन है।

बिटकॉइन world के उन क्षेत्रों में धन हस्तांतरित करने की एक विधि प्रदान करता है जहां प्रतिबंध बहुत कम हैं। इसके अतिरिक्त, चूंकि बिटकॉइन लेनदेन अनाम हैं।

इसलिए क्रिप्टोकरेंसी नापाक और गैरकानूनी गतिविधियों से जुड़े लेनदेन को आकर्षित करना जारी रखेगा। यह स्पष्ट है कि बिटकॉइन दुनिया भर में ब्याज और उपयोग प्राप्त कर रहा है।

बिटकॉइन, और इसके तार्किक बच्चे, Blockchain टेक्नोलॉजी, का दुनिया के बाजारों में भविष्य है।

हालांकि, यह संभावना है कि दुनिया भर में सरकारें एक अखिल वैश्विक संपत्ति (Pan-global assets) का विरोध करेंगी जो उनकी पहुंच से परे संचालित होती है।

और उन गतिविधियों को स्पष्ट बना सकती है जो उनके सिद्धांतों और नियमों या राजनीतिक एजेंडे पर चलती हैं।

क्या Bitcoin legal है? Bitcoin kya hai.

Yes, फिलहाल India में Bitcoin legal है, अप्रैल 2018 में RBI (Reserve bank of India) ने cryptocurrency trading पर ban लगा दिया था।

यानी कि तब कोई भी भारतीय बैंक (Indian banks) या अन्य वित्तीय संस्थाए (financial institutions) इन virtual currencies पर किसी भी तरह की सुविधा प्रदान नही करते थे।

हालांकि अधिकतर विकसित countries में cryptocurrency पर तब प्रतिबंध ही था इसके बाद Indian crypto community ने RBI के against India के supreme court में case लड़ा, लगभग दो साल के बाद Supreme Court ने फैसला Indian crypto समुदाय के पक्ष में सुनाया।

अब India मे Bitcoin पूरी तरह से legal है. हालांकि ये अभी इतना प्रचलित नही है कि इसे हम पारंपरिक मुद्रा (traditional currency) की तरह उपयोग करे।

बिटकॉइन में निवेश कैसे करे? 

कोई भी जो cryptocurrency में interested है वे Bitcoin में investment शरू कर सकते है. हालांकि ये इतना सरल नही है।

एक आम व्यक्ति के लिए तो बिल्कुल नही. Bitcoin में निवेश करने का मतलब है इसे Buy करना और जब इसके price high हो तो इसे sell करके उससे profit कमाना।

परंतु आप सोच रहे होंगे कि Bitcoin की कीमत तो बहुत ज्यादा है. जरुरी नही कि आप सीधे 1 Bitcoin को खरीदे. आप इसकी सबसे smallest units को भी Buy कर सकते है।

जिस तरह 1 रुपया में 100 पैसे होते है, ठीक वैसे ही 100 million Santoshi मिलकर 1 Bitcoin बनाते है, तो आप धीरे-धीरे इन छोटी इकाइयों को खरीदकर 1 Bitcoin बना सकते है।

बिटकॉइन में invest शुरू करने के लिए कई ऐसे चीजें है जो एक investor को चाहिए।

1) अपना KYC Verified करवाना होना इसके लिए PAN Card और एक valid address proof submit करे।

2) Bitcoin Wallet का चयन करें, ये वे software होते है जो आपको Bitcoin store और sell करने में सहायता करते है. Zebpay, Blockchain Wallet, और Coinbase सबसे बेहतरीन Bitcoin wallet है।

3) किसी एक वॉलेट को चुनने के बाद इनमें Sign up करके अपना account create करना होना ताकि आप इन्हें उपयोग कर पाए।

4) अपने वॉलेट को Bank account, Debit card, या Credit card से connect करे।

5) अंत में आप Bitcoin को Buy करे. इसकी शुरुआत आप Bitcoin की छोटी इकाई को Buy भी कर सकते है।

एक बात जो आपको ध्यान रखनी है कि ये एक जोखिम भरा investment है. इसलिए इसके बारे में जितनी हो सके Information ले।

यदि आप बड़ा Risk नही लेना चाहते तो इसकी small units पर invest करे. ऐसे cryptocurrency exchange का उपयोग करे जो अधिक safe हो।

Bitcoin Mining क्या है? Bitcoin kya hai.

ये वो प्रक्रिया जिसके द्वारा new bitcoins generate होते है. इसे समझिये जब आप बिटकॉइन का transaction करते है, तो उन्हें verified करने का काम बिटकॉइन miners का होता है।

हालांकि माइनिंग के लिए कोई एक नही बल्कि कई miners हो सकते है. जो सबसे पहले उस transaction के record को Bitcoins public ledger (Blockchain) में add कर देगा।

उसे reward के तौर पर Bitcoin दिए जाते है. Bitcoin Mining कुछ specialized computers द्वारा की जाती है।

अपनी संगणन शक्ति (computing power) का use करके miners उन transactions को verified करने का काम करते है।

Mining एक important प्रक्रिया है इससे ना सिर्फ new bitcoin generate होते है, बल्कि Bitcoin network भी Safe रहता है।

इस सत्यापन प्रक्रिया (verification process) द्वारा ये ensure होता है, की केवल valid transaction ही Blockchain में record किये जाए।

बिटकॉइन माइनिंग कैसे करे? 

ये अक्सर सुनने में आता है कि लोग बिटकॉइन mining के माध्यम से करोड़ो earn कर रहे है. बात सच है परंतु ये process बिल्कुल भी आसान नही है।

क्योंकि इसके लिए आपको कई resources की जरूरत पड़ती है जो काफी expensive होते है. यानी एक सामान्य व्यक्ति (common individual) के लिए ये काम नही है।

चलिये फिर भी हम आपको बता देते है, कि बिटकॉइन mining कैसे कर सकते है. बिटकॉइन mining को start करने के लिए आपको  बिटकॉइन mining hardware चाहिए होंगे।

हालांकि पहले ये काम Computer CPU या high speed video processor card के द्वारा possible था।

पंरतु आज ये संभव नही है. इस process में बिजली की खपत (Power consumption) आपकी सोच से कही ज्यादा होता है।

तो यदि आप बिटकॉइन mining करना चाहते है तो ये प्रक्रिया अधिक electricity consume करती है।

उप्पर के Step देने के बाद आपको Bitcoin mining के लिए special program download करना होगा. उदाहरण के लिए CGMiner, BitMinter, और BFGMiner सबसे Famous है।

अब आपको Bitcoin mining pool को join करना होगा. ये बिटकॉइन miners का ग्रुप होता है जो एक block solve करके उसके rewards को आपस मे Share करने के लिए काम करते है।

अंत में आपको बिटकॉइन wallet set करना होगा जहां आपको एक unique address मिलेगा इससे आप reward में मिले BTC को प्राप्त कर पाएंगे।

इन्हें भी पढ़े : शेयर मार्केट क्या है और कैसे काम करता हैं?

नोट: – Bitcoin kya hai कैसा लगा, मुझे कमेंट करके जरूर बताएं और हमारे द्वारा लिखे गए लेख में कोई कमी देखी है तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं, हम इसे सुधारेंगे और अपडेट करेंगे। अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया तो इसे फेसबुक, व्हाट्सएप और अपने दोस्तों के बीच शेयर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.